वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- प्रदेश मे लगातार बढ़ रहे साइबर क्राइम का अब एक नया तरीका सामने आया है। और इस ठगी का नया तरीका हैं व्हाट्सएप हैंकिंग। अब व्हट्सएप एकाउंट हैक होने के कई मामले सामने आने लगे हैं। और इसी को देखते हुए हरियाणा पुलिस  ने व्हट्सएप यूज़र्स के लिए एक एडवाइजरी जारी की है। जिसमे पुलिस ने बताया है कि हैकर यूज़र्स को ठगने के लिए उनको वेरिफिकेशन कोड वाले मैसेज करते हैं। ठगी के इस नए तरीके के अनुसार हैकर आजकल पहले एक फर्जी एकाउंट बनाते हैं फिर खुद को व्हट्सएप तकनीकी टीम का सदस्य बताकर लोगो को गुमराह करने के लिए आफ्शिॅयली व्हट्सएप मे काम कर रहे लोगो की डिस्प्ले पिक्चर लगाते हैं। और फिर उसके बाद वे अपने टारगेट को मैसेज भेजकर अपनी पहचान प्रूफ करने के लिए एक वेरिफिकेशन कोड भेजते हैं। और अगर कोई व्यक्ति अपना वेरिफिकेशन पिन साझा कर देता हैं, तो फिर उसके बाद उस व्यक्ति का एकाउंट हैकर के कंट्रोल में आ जाता है और फिर हैकर उस एकाउंट का इस्तेमाल कर किसी को भी मैसेज कर सकता है।

इस तरह के मामले सामने आने से हरियाणा पुलिस भी हरकत मे आ गयी है। और यूज़र्स से किसी भी वेरिफिकेशन कोड वाले मैसेज का रिप्लाई देने से मना कर रही है। और इसके साथ ही पुलिस ने फ़र्ज़ी मैसेज से सावधान रहने की सलाह दी है। अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक ने बताया कि कोविड 19 के बाद काफी संख्या मे ऑनलाइन गतिविधिया का चलन बढ़ने से साइबर अपराधों की संख्या भी बढ़ने लगी हैं। लोगो और सगठनों को ठगने के लिए अब नए तरीकों का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके साथ ही उन्होंने यूज़र्स को किसी भी तरह के वेरिफिकेशन कोड शेयर न करने की सलाह दी हैं। और सोशल मीडिया एकाउंट्स के लिए 2 स्टेप वेरिफिकेशन अपनाने का भी सुझाव दिया है।और साथ ही पिन या ओटीपी मांगने वाले मैसेज पर भी  प्रतिक्रिया देने से मना किया है। इससे उनके एकाउंट्स सेफ होंगे ।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: