वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- हरियाणा में शराब घोटाले को लेकर चल रही सियासी खींचतान के बीच सूबे के उप मुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला ने डिस्टलरियों और ठेको पर चेकिंग का इंतजाम पुख्ता कर दिया है। उन्होंने कहा है कि डिस्टलरी से निकलने वाली गाड़ियों में भी जीपीएस ट्रैकिंग सिस्टम इंस्टॉल होगा। इसके लिए कमेटी बनाई गई है। जो दूसरे राज्यों का भी अध्ययन कर रही है। इसे जल्द ही लागू किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि सीसीटीवी लगने की प्रक्रिया अंतिम चरण में है और सितंबर के अंत तक सभी डिस्टलरी में सीसीटीवी लग जाएंगे। जिन क्षेत्रों में डिस्टलरी है उन जिलों के डीईटीसी को निर्देश दिए गए हैं कि हर 15 दिन में डिस्टलरी में जाकर कैमरों को चेक करें। डिप्टी सीएम ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक टेंपर-प्रूफ फ्लो-मीटर सभी डिस्टलरी में लगाए जा रहे है और उम्मीद है कि अगले एक महीने में फ्लो-मीटर लगा दिए जाएंगे।
उन्होंने बताया कि लॉकडाउन में 27 से 31 मार्च तक परिमट व पास जारी करने वाले अधिकारियों के खिलाफ जांच बैठाई गई है। जांच पूरी होते ही दोषी पाए जाने वाले अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही दुष्यंत आबकारी विभाग की पीठ थपथपाने से भी नहीं चूके।
उन्होंने कुछ लोगों द्वारा आबकारी विभाग में घोटाला के लगाए गए आरोपों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आबकारी विभाग में इतना राजस्व क्लेक्शन कभी नहीं हुआ जितना कोरोना काल में हुआ है, तो फिर घोटाला कहां हुआ। चौटाला ने विपक्ष द्वारा प्रचारित शराब घोटाले पर आंकड़ों एवं तथ्यों का सिलसिलेवार ब्योरा दिया।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: