वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- हरियाणा में कोरोना संकट के वक्त अंतरराष्ट्रीय फेयर स्थगित हो चुके हैं। निर्यातकों के लिए दूसरा विकल्प आया है थ्री फेयर। पहले ही फेयर में पानीपत की टीम ने अपना नाम बुलंद कर दिया। कारपेट डिजाइन में देश में दूसरे और हरियाणा में पहले स्थान पर रहा। टफटिड कारपेट में मिर्जापुर को पहला स्थान हासिल हुआ। पानीपत के विनी डेकोर को दूसरा स्थान हासिल हुआ। इस थ्री फेयर के साथ ही उम्मीद जगी है कि आगे इसी तरह के मेलों के माध्यम से निर्यातकों को बड़े ऑर्डर मिल सकते हैं। 

देशभर के निर्यातकों ने अपने स्टाल सजाए थे। 61 देशों के 350 बायर्स ने इसमें भाग लिया। कारपेट एक्सपोर्ट प्रमोशन काउंसिल की ओर से पांच दिवसीय वर्चुअल कारपेट एक्सपो का आयोजन किया गया था। एक्सपोर्टरों से ऑनलाइन आवेदन मांगे गए थे। इसमें निर्धारित राशि भरकर अपना थ्री डी स्टाल दिखाया जा सकता था। इसी एक्सपो में दुनियाभर के खरीदारों को आमंत्रित किया गया। पांचों दिन तक निर्यातकों ने अपने उत्पादों के बारे में बताया। विनी डेकोर के संस्थापक कमल गर्ग ने बताया कि रिसर्च एंड डेवलपमेंट पर फोकस करने की वजह से पानीपत को यह अवॉर्ड हासिल हुआ। काबड़ी रोड पर विशाल वुलन मिल में नए-नए प्रयोग किए जाते हैं। एक्सपो में बायर्स ने काफी रुझान दिखाया है। देशभर के निर्यातकों को इसका लाभ मिलेगा। उन्होंने हैंड टफटिड मरक्वी कारपेट बनाया था, जो बेहद पसंद किया गया।

निर्यातकों और आयातकों का कहना है कि यह एक तरह से नए युग में प्रवेश करने जैसा है। अब तक जर्मनी जैसे बड़े देशों में एक्सपो लगते थे। लाखों रुपये खर्च कर वहां पहुंचना, इसके बाद लाखों रुपर्य खर्च करके स्टाल लगाना, बेहद महंगा साबित होता था। वर्चुअल एक्सपो में कुछ हजार में ही अपना शोरूम दिखाया जा सकता है। निर्यातक रमन छाबड़ा का कहना है कि वर्चुअल एग्जीबिशन सबसे बेहतर विकल्प है। आने वाले समय में इसका बड़ा लाभ मिलेगा। जो निर्यातक बाहर नहीं जा सकते, उन्हें भी मौका मिलेगा।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: