वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- कोरोना की मार के बीच नेशनल हाईवे-44 पर चलना अब महंगा होने वाला है। करनाल से यदि आपको पानीपत की तरफ जाना है या फिर पानीपत की तरफ से करनाल आना है तो टोल टैक्स के रूप में पांच रुपये से लेकर 20 रुपये तक अधिक चुकाने होंगे। एनएचएआई के निर्देशों के बाद बसताड़ा टोल प्लाजा दरों को बढ़ाने जा रहा है। 

टोल की ये नई दरें पहली सितंबर से लागू होंगी। वहीं यदि मासिक पास की बात करें तो यह भी 60 रुपये से लेकर 350 रुपये तक वाहन की क्षमता के अनुसार महंगे हो जाएंगे। बसताड़ा टोल प्लाजा से 24 घंटे में दिल्ली से अमृतसर तक जाने वाले करीब 30 हजार से ज्यादा वाहनों यही से गुजरते हैं।
अप एंड डाउन करने वाले हर वाहन मालिक की जेब पर टोल की बढ़ी नई दरों से असर पड़ेगा। हालांकि नई दरों में कार, जीप और वैन की एक तरफ की यात्रा का टोल टैक्स नहीं बढ़ा है, यदि वे अप-डाउन करेंगे तो पिछले रेट से पांच रुपये अधिक चुकाने होंगे। टोल कंपनी की ओर से जारी अधिसूचना में कुछ वाहनों और स्थानीय लोगों को रियायत भी दी गई है, जिसके अनुसार, रोजाना टोल से निकलने वाली स्कूली बसों के लिए 1000 रुपये में मासिक पास बन सकेगा। जबकि अन्य वाहनों के लिए यह रेट अलग-अलग है। इसी तरह से टोल प्लाजा के 10 किलोमीटर की परिधि में रहने वालों के लिए 150 रुपये और 20 किलोमीटर की परिधि में रहने वालों के लिए 300 रुपये में मासिक पास बनने का नियम इस बार भी लागू रहेगा।

TEAM VOICE OF PANIPAT 

Share: