वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- उपायुक्त धर्मेन्द्र सिंह ने शुक्रवार को लघु सचिवालय के सभागार में कोविड-19 के तहत आयोजित बैठक में निर्देश दिए कि सभी इन्सीडेन्ट कमांडर अपने अपने क्षेत्र में आने वाले सभी निजी अस्पतालों में मौजूदातौर पर जाकर निरीक्षण करेंगे कि वहां पर कितने बैड उपलब्ध हैं और निजी अस्पताल जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को वास्तविक डाटा उपलब्ध करवा रहें या नहीं। यहीं नहीं यह भी सुनिश्चित करेंं कि प्राईवेट लैब निर्धारित दरों पर टैस्टिंग की सुविधा दे पा रही हैं या नहीं।
उन्होंने सिविल सर्जन को कहा कि जो अनट्रेसएबल केस हैं, उनको पुलिस विभाग के माध्यम से ट्रेस किया जाए। सम्बन्धित एसएचओ को उनके निर्धारित पते के अनुसार लिस्ट सौंपी जाए। क्योंकि टैस्टिंग के समय कुछ लोक अपना सम्पर्क नम्बर नहीं दे पाते। या उनके पास फोन न. होता ही नहीं है। ऐसी स्थिति में पुलिस विभाग उन लोगों की पहचान करना सुनिश्चित करेगा। ऐसे लोगों की संख्या 60 के आसपास है।

डीसी धर्मेन्द्र सिंह ने कहा कि जिला में सभी सरकारी व प्राईवेट स्वास्थ्य संस्थानों में कुल दो हजार बैडों की क्षमता के कोविड केयर सैन्टर तैयार किए जा रहे हैं। एनसी मैडिकल कालेज, प्रेम नर्सिंग होम के अलावा एग्रो मॉल में भी बैड स्थापित करने के लिए कार्यवाही की जाए।
उपायुक्त ने नये प्रशिक्षु एचसीएस अधिकारियों की देखरेख में सारा डाटा तैयार करने के निर्देश दिए हैं, जो आईईसी की एक्टिविटी देखेंगे। सरकारी तंत्र पर आमजन का विश्वास पुख्ता हो, इस बात को सुनिश्चित किया जाएगा। उन्होंने आमजन से अपील भी की कि कोरोना वायरस की इस महामारी में बिल्कुल भी न घबराएं। जो भी दिशा-निर्देश समय-समय पर दिए जाते हैं, बस उनकी पालना करें।
डीसी धर्मेन्द्र सिंह को सीएमओ डॉ0 संतलाल वर्मा ने बताया कि फिल्ड में आशावर्कर के साथ एमपीएचडब्लयू पुरूष को भी लगाया गया है, जो कि सर्वे कर रहे हैं। एक टीम को करीब दो सौ घर दिए गए हैं। यह सर्वे आगामी लगभग 12 सितम्बर तक पूरा कर लिया जाएगा। यदि किसी परिवार में लक्षण दिखाई देते हैं तो उसके दो दिन बाद उसका एंटीजन टैस्ट भी करवाया जाता है।
उपायुक्त ने एसडीएम समालखा को भी निर्देश दिए कि वे अपने क्षेत्र में ज्यादा स्टाफ रखने वाले ढाबों का भी निरीक्षण करें। क्योंकि गत दिवस मुरथल स्थित ढाबे पर अधिकाधिक तौर पर कोरोना पोजिटिव केस मिले हैं। यह एक संगीन मामला है। बैठक में एडीसी डॉ0 मनोज कुमार, एसडीएम पानीपत स्वप्लिन पाटिल, निगम आयुक्त सुशील कुमार, डीएसपी सतीश वत्स, सीएमजीजीए अम्बालिका खन्ना भी उपस्थित थी।

TEAM VOICE OF PANIPAT

Share: