वायस आफॅ पानीपत (कुलवन्त सिंह)- जब से प्रदेश मे कोरोना के चलते लाॅकडाउन लगाया गया है, तब से सभी गतिविधियां करीब थम सी गई थी। प्रदेश मे इस दौरान यातायात की आवाजाही भी बंद रखी गई थी। जिसके चलते प्रदेश मे बसों की आवाजाही भी बंद थी। जिसके चलते लोगो के साथ साथ सरकार को भी भारी नुकसान उठाना पड़ा था। क्योंकि लाॅकडाउन से पहले औसतन 3800 बसे  रोज चलती थी। लेकिन वर्तमान मे 1600 बसे ही सरकार द्वारा अभी चलाई जा रही है। समय के साथ साथ प्रदेश मे यातायात को खोल दिया गया। जिसमे बसों को चलाने की अनुमति भी दे दी गईं। हालांकि ये अनुमति सिर्फ छोटे रूटों पर जाने के लिए मिली थी।

लेकिन अब प्रदेश सरकार ने अनलॉक 4 के दौरान अंतरराज्यीय बसों के संचालन की तैयारी भी कर ली है। सरकार ने यह फैसला चंडीगढ़ प्रशासन द्वारा बाहरी बसों को अपने यहाँ प्रवेश करने की इजाजत देने के बाद लिया है। बता दे कि परिवहन विभाग ने इस मामले मे पडोसी राज्यों को e mail भेजकर NOC यानी कि अनापत्ति प्रमाण पत्र अंतरराज्यीय बसों के संचालन के लिए मांगा है। पड़ोसी राज्यो को भेजे गए इस पत्र मे सरकार ने तर्क दिया है कि कोरोना के मामले मे रिकवरी रेट तेजी से बढ़ रही है। धीरे धीरे हालात भी सामान्य हो रहे हैं। इसलिए लोगो की सुविधाओ को देखते हुए अंतरराज्यीय बसों का संचालन ज़रूरी है। 

TEAM VOICE OF PANIPAT  

Share: